शेफाली वर्मा क्रिकेटर बायोग्राफी, उम्र, जाति, बॉयफ्रेंड और करियर।

शेफाली वर्मा एक भारतीय महिला क्रिकेटर है। जिन्होंने काफी मुसीबत का सामना करते हुए आज इस मुकाम पर पहुंची है। जिसे हर कोई उनके बारे में जानना चाहता है। आज मैं शेफाली वर्मा महिला क्रिकेटर के बारे में संपूर्ण जानकारी प्राप्त करेंगे। जिस समय महिलाओं के लिए कोई भी क्रिकेट क्लब में प्रशिक्षण नहीं दिया था। उसे समय शेफाली अपने पिता की मदद से एक सफल महिला क्रिकेटर बनकर सबको चौंका दिया।
क्रिकेटर शेफाली वर्मा की जीवन परिचय।
शेफाली वर्मा का जन्म 28 जनवरी 2004 को हरियाणा के रोहतक में हुआ था। हालांकि वह मूल रूप से राजस्थान के अलवर की रहने वाली है। शेफाली के पर दादा राजस्थान के अलवर के थे। जब उनके परदादा का मृत्यु हो गया तो उनके परदादा अपनी मायके रोहतक में चली आई। यहीं पर उनके दादा और पिता का जन्म हुआ। शेफाली के पिता का नाम संजीव वर्मा है। शेफाली का बचपन से ही क्रिकेट में बहुत रुचि था। उनके पिता संजीव वर्मा भी शेफाली को क्रिकेटर बनना चाहते थे। इसलिए उन्होंने शेफाली को क्रिकेट खेलने का ट्रेनिंगदेने लगे। लेकिन वह जानते थे की प्रोफेशनल क्रिकेटर बनने के लिए किसी क्रिकेट क्लब में दाखिला लेना जरूरी था। दुर्भाग्य की बात है कि उसे समय रोहतक में कोई भी क्रिकेट क्लब नहीं था। इसलिए उन्हें बाहर क्रिकेट क्लब में दाखिला लेने के लिए जाना पड़ा। उसे समय लड़की को कोई क्रिकेट क्लब में दाखिला लेने से इनकार कर दिया। क्योंकि लड़कों के वर्ग में अकेली लड़की का दखिला लेना मुश्किल था। इस लिए उनके पिता ने शेफाली का बाल कटवा कर लड़का बनाने का भ्रम पैदा किया और इस प्रकार शेफाली का क्रिकेट क्लब में दाखिला हुआ। सोशल मीडिया के अनुसार शेफाली का बड़ा भाई स्थानीय क्रिकेट क्लब में खेलते थे। वह नहीं चाहते थे कि उनकी बहन उसे क्लब में से खेले। एक दिन उनका भाई बीमार हो गया और अपने भाई की जगह पर शेफाली खेलने गई। उसे दिन शेफाली मैन ऑफ़ द मैच के पुरस्कार से नवाजी गई।
शेफाली के प्रथम गुरु उनके पिता थे।
शेफाली 7 वर्ष की उम्र से क्रिकेट खेलना शुरू किया था। उनके संजीव वर्मा न उन्हें क्रिकेट खेलने सीखना शुरू किया था। उसके बाद है उन्होंने क्रिकेट क्लब में दाखिला लिया था। शेफाली रहती है कि उनका प्रथम गुरु उनके पिता थे।
शेफाली वर्मा की संक्षिप्त परिचय।
जन्म तिथि     28 जनवरी 2024
पिता का नाम    शिवम वर्मा
जन्म स्थान    रोहतक ( हरियाणा भारत)
ऊंचाई          1.62 m
सितंबर 2019 को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ महिला अंतर्राष्ट्रीय मैच में डेब्यू किया।
बड़े भाई का नाम,    राहुल वर्मा
माता का नाम,   प्रवीण बाला
उनके पिता संजीव वर्मा एक दुकानदार हैं।


शेफाली वर्मा का क्रिकेट करियर।
सितंबर 2019 को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ है महिला अंतर्राष्ट्रीय t20 से क्रिकेट करियर की आरंभ किया।
नवंबर 2019 में वेस्ट इंडीज के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अर्ध शतक बनाने का रिकॉर्ड काम किया। उसे समय उनका उम्र करीब 15 साल था।
जनवरी 2020 में ऑस्ट्रेलिया में होने वाले t20 विश्व कप के लिए भारतीय टीम में शामिल हुई यानी बीसीसीआई ने उन्हें केंद्रीय अनुबंध में शामिल किया।
शैफाली ने 15 साल का रिकॉर्ड तोड़।
15 साल के उम्र में अर्धशतक बनाकर रिकॉर्ड बनाया। यह रिकॉर्ड पहले सचिन तेंदुलकर के पास था उन्होंने 16 वर्ष के उम्र में अर्धशतक बनाकर रिकॉर्ड बनाया था। उसे रिकॉर्ड को शेफाली वर्मा ने 15 सालके उम्र में अर्शतक बनाकर सचिन तेंदुलकर का रिकॉर्ड तोड़ा।
पूर्व में बनाए गए रनों का आकड़ा।
शेफाली की जाति और उम्र।
शेफाली का जन्म एक के सोनार परिवार में हुआ था। आज के तारीख में उनका उम्र लगभग 20 वर्ष है।
शेफाली वर्मा की रोचक बातें।
लड़का के रूप में अपने भाई की जगह पर क्रिकेट खेलने गई और मैन ऑफ द मैच बन गई।
नवंबर 2019 में सबसे कम उम्र के महिला क्रिकेटर मैं अर्थशतक बनाने का रिकॉर्ड बनाया। 158 रण में उन्हें मैन ऑफ द सीरीज चुना गया।
2019 में अंतर्राष्ट्रीय महिला क्रिकेट के कप्तान मिताली के संन्यास लेने के बाद उन्हें महिला अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट टीम में शामिल किया गया।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

uri.indexOf("?m=1"));