सुनील छेत्री बायोग्राफी, आयु,,परिवार ,करियर और सन्यास/Sunil Chhetri biography in Hindi.

Jagdish Ray
0
फुटबॉलर सुनील छेत्री,
सुनील छेत्री एक भारतीय फुटबॉल खिलाड़ी हैं। उन्हें महान खिलाड़ियों में माना जाता है। सुनील छेत्री को मैसी कहा जाता हैं। यह महान खिलाड़ी 7 जून 2024 को भारतीय राष्ट्रीय फुटबॉल टीम से संन्यास लेने की घोषणा किया है। इसलिए मैं आज इस महान फुटबाल खिलाड़ी के बारे में कुछ निजी जानकारी आपसे शेयर करना चाहता हूं। आईए जानते हैं सुनील छेत्री के बारे में कुछ रोचक बातें।
सुनील छेत्री की जीवन परिचय। 
सुनील छेत्री का जन्म 3 अगस्त 1984 को आंध्र प्रदेश के सिकंदराबाद में हुआ था। उनके पिता का नाम केवी छेत्री है, जो इंडियन आर्मी मैं काम करते थे और इंडियन आर्मी के लिए फुटबॉल खेला करते थे। उनके माता का नाम सुशीला छेत्री है जो नेपाल के लिए फुटबॉल खेला करती थीं। अब आपको यह जानकारी हो गई कि उनके माता-पिता दोनों फुटबॉलर थे। इसी कारण सुनील छेत्री को बचपन से फुटबॉल से लगाव था। जिस समय इन्होंने फुटबॉल खेलना शुरू किया था उसे समय लोग फुटबॉल खेल में रुचि नहीं लेते थे। उसे समय लोग क्रिकेट में ज्यादा रुचि रखने लगे थे। सुनील छेत्री ने फुटबॉल को अपना कैरियर बनाना चहा। इसलिए उन्होंने इंडिया के मशहूर फुटबॉल क्लब टाटा फुटबॉल  अकादमी में प्रशिक्षण के लिए दाखिला लिया। यहीं से उनके फुटबॉल खेल में निखार आना शुरू किया। 
सुनील छेत्री की शिक्षा 
सुनील छेत्री के पिता इंडियन आर्मी में काम करते थे इसलिए उनकी पढ़ाई अलग-अलग जगह पर हुई है। 12वीं कक्षा पास करने के बाद पूरी तरह अपना समय फुटबॉल में बिताने लगा। और पढ़ाई छोड़ दी। 
सुनील छेत्री की करियर। 
शुरू में सुनील छेत्री दिल्ली सिटी फुटबॉल क्लब के लिए खेला करते थे। इस प्रकार उन्होंने इंडिया के प्रसिद्ध फुटबॉल क्लब मोहन बागान के साथ भी खेला। उन्होंने इंडिया के प्रसिद्ध फुटबॉल के सभी सभी क्लबोन में खेला है जैसे मोहन बागन,जेसीटी
2004 में उन्हें अंदर 20 में खेलने का मौका मिल।
2005 में उन्हें इंडियन फुटबॉल राष्ट्रीय टीम में शामिल कर लिया गया। उसे समय पाकिस्तान के खिलाफ एक गोल मारा था। इस तरह उनका अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल करियर शुरू हुआ।
सुनील छेत्री का संन्यास।
भारतीय फुटबॉल के लीजेंड सुनील छेत्री को आखरी बार मैदान पर लोगों का हुजूम उमर पाड़ा। साल्ट लेक स्टेडियम में कुवैत के खिलाफ फीफा वर्ल्ड कप क्वालीफायर मैच में 48000 से ज्यादा दर्शक पहुंचे। यह मैच कुवैत ने भारत को ड्रा पर रोक दिया। इसी मैच के बाद सुनील छेत्री ने संन्यास की घोषणा की है। इसके बाद वह अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल में नहीं खेल सकेंगे। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय करियर में 151 माचो में 94 गोल धागे। 
क्लब फुटबॉल में बेंगलुरु से खेलते रहेंगे छेत्री।
मैच के बाद क्षेत्रीय ने दर्शकों का अभिवादन स्वीकार करते हुए मैदान का चक्कर लगाया और फैंसी को दर्शकों के सपोर्ट के लिए धन्यवाद दिया। इसके बाद सभी खिलाड़ियों ने सुनील छेत्री को गॉड ऑफ़ ऑनर दिया। भारतीय जर्सीमें आखिरी बार मैदान से बाहर जाते हुए छेत्री बेहद भावुक हो गए। क्षेत्रीय ने साफ कर दिया है कि वह अपने क्लब बेंगलुरू एफसी से जुड़े रहेंगे और अगले सीजन इंडियन सुपर लीग में खेलते रहेंगे। 
साल्ट लेक स्टेडियम मैं मैच देखना पूरा परिवार पहुंचा। 
39 साल के भारतीय कप्तान सुनील छेत्री के फेयरप्ले मैच में उनका पूरा परिवार कोलकाता के साथ लेके स्टेडियम में मौजूद था। उनके परिवार में माता-पिता पत्नी ,बेटा और बहन है। क्षेत्रीय की मां और जुड़वा बहन नेपाल के लिए नेशनल टीम के लिए फुटबॉल खेल चुकी है। 
सुनील छेत्री की कुछ रोचक बातें। 
1, हुए कई महाद्वीपों में खेलने वाले पहले भारतीय बने थे। पहले उन्हें नॉर्थ अमेरिकी क्लब कंसास सिटी विजाइडर्स ने अपने साथ जोड़ा था। इसके बाद यूरोपीय क्लब स्पोर्टिंग सीपी मैं रिजर्व के रूपमें रहे। 
2, साल 2008 में जब क्षेत्रीय ईस्ट बंगाल से खेला करते थे तब इंग्लैंड पुर्तगाल अमेरिका के कई क्लबोन ने उन्हें शामिल करने में रुचि दिखाई। इसमें प्रीमियर लीग टीम लीड से यूनाइटेड चैंपियनशिप टीम कोवेंट्री सिटी पुर्तगाल की सेकंड डिवीजन टीम स्टोरिल प्रैया मेजर लीग सॉकर टीम डीसी यूनाइटेड और लास्ट एलईडी से गैलेक्सी जैसे क्लब थे। उन्होंने  कोवेंटरी सिटी के लिए ट्रायल भी दिया लेकिन दूर नहीं सके।
3, साल 2010 में एमएलए टीम कंसास सिटी विजाइडर्स से जुड़े। तब वे अमेरिका में फुटबॉल खेलने वाले पहले भारतीय बने थे। 25 जुलाई 2010 में मैन यूनाइटेड के खिलाफ 2-1 से जीतने वाली कंसास सिटी विजाइडर टीम का हिस्सा थे। इस मैच में हुए 21 मिनट खेले थे। 
4, क्षेत्रीय 2012 और 13 में पुर्तगाल कबे सपोर्टिंग  का हिस्सा रहे। यह वही क्लब है जिसमे क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने अपने पेशेवर करियर की शुरुआत से 2 साल बिताए थे।
सुनील छेत्री द्वारा किए गए गोल के आंकड़े। 
2005 -1
2006-0
2007-6
2008 -8
2009-1
2010-3
2011-13
2012-4
2013-5
2014-3
2015-6
2016-2
2017-5
2018-8
2019-7
2021-8
2022-4
2023 -9
2024-1
अक्सर पूछे जाने वाला सवाल
कहां के रहने वाले हैं सुनील छेत्री? 
सुनील छेत्री का जन्म में आंध्र प्रदेश के सिकंदराबाद में हुआ था लेकिन वह मूल रूप से नेपाल के रहने वाले हैं। 
सुनील छेत्री का उम्र कितना है? 
सुनील छेत्री 40 वर्ष के है।
सुनील छेत्री कितने अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं?
सुनील छेत्री 151 अंतर्राष्ट्रीयमैच खेले हैं। जिसमें 94 गोल दागे है।

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ

एक टिप्पणी भेजें (0)
clean_uri);